सदस्यः:Nidhi Ranganath/प्रयोगपृष्ठम्

विकिपीडिया, कश्चन स्वतन्त्रः विश्वकोशः
Jump to navigation Jump to search

1)

लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अरण्यकाण्ड
Ravi Varma-Ravana Sita Jathayu
अरण्यकाण्ड

अरण्यकाण्डस्य कथा[सम्पादयतु]

रामः सीता लक्ष्मणश्च दक्षिणदिशि गोदावरीतीरं प्रति अगच्छन् । तत्र ते कुटीरं निर्मीय जीवनम् आरब्धवन्तः । पञ्चवट्यां ते रावणस्य सहोदर्या राक्षस्या शूर्पणखया अमिलन् । सा रामलक्ष्मणयोः पीडनम् अकरोत् । ततः सा सीतां मारयितुं प्रयत्नम् अकरोत् । तावता लक्ष्मणः तस्याः नासिकां कर्णे च अकर्तयत् । इदं ज्ञातवान् तस्याः सहोदरः खरः राजकुमारयोः उपरि आक्रमणम् अकरोत् । रामः तान् समूलं पराजितवान् ।
इमं वार्तां ज्ञातवान् रावणः रामस्य वधां कर्तुं निश्चितवान् । राक्षसं मारीचं स्वर्णमृगरूपेण गत्वा सीताम् आकर्ष्टुम् आदिष्टवान् । स्वर्णमृगात् नितराम् आकृष्टा सीता तं वशीकर्तुं रामं प्रैरयत् । इदं राक्षसानां माया इति जानन् अपि रामः, सीतायाः अपेक्षां निराकर्तुम् अशक्नुवन् सीतां लक्ष्मणाधीनां कृत्वा मृगस्य ग्रहणाय अगच्छत् । किञ्चित् समयानन्तरं 'हा सीता' 'हा लक्ष्मण' इति आक्रन्दनं श्रुतम् । तस्य श्रवणात् भीता सीता रामस्य रक्षणाय लक्ष्मणं 'भवान् गच्छतु' इति अवदत् । सीताम् एकाकिनीं त्यक्त्वा गन्तुं निराकुर्वन्तम् अपि लक्ष्मणम् अनुरोधपूर्वकं प्रैषयत् । गमनात् पूर्वं लक्ष्मणः रेखां विलिख्य इतः बहिः अपरिचितानां मेलनाय न गन्तव्यम् इति संसूच्य एव गच्छति । तस्य बहिर्गमनानन्तरं रावणः संन्यासीवेषं धृत्वा भिक्षाय सीतायाः समीपम् आगच्छति । तेषां कुयोजनाम् अजानती सीता तस्मै भिक्षाम् अयच्छत् । तदा रावणः ताम् अपहृत्य अगच्छत् ।
पक्षी जटायुः सीतां रक्षितुम् इच्छन् रावणम् अवरुद्धवान् । रावणेन नितरां क्षतः जातः । सीता राक्षसीनाम् आश्रये अस्थापयत् । रावणः सीतां परिणयाय अनुरोधम् अकरोत् । रामे दत्तहृदया सीता रावणस्य अपेक्षां सम्पूर्णतया निराकृतवती । रामलक्ष्मणौ सीतायाः विषयं जटायुतः ज्ञातवन्तौ । तस्याः रक्षणाय प्रयासम् आरब्धवन्तः । अन्वेषणावसरे ताभ्यां राक्षसं कबन्धम् अमिलताम् । शबर्या अपि तौ अमिलताम् । सा तौ सुग्रीव-हनुमतयोः समीपं प्रैषयत् ।

अरण्यकाण्डस्य केचन नीतिश्लोकाः[सम्पादयतु]

१ उद्वेजनीयो भूतानां नृशंसः पापकर्मकृत् ।
   त्रयाणामपि लोकानामीश्वरो्ऽपि न तिष्ठति ॥

२ नानुतिष्ठन्ति कार्याणि भयेषु न बिभेति च ।
   क्षिप्रं राज्याच्च्युतो दीनस्तृणैस्तुल्यो भविष्यति ॥

३ सुलभाः पुरुषा राजन्सततं प्रियवादिनः ।
   अप्रियस्य तु पथ्यस्य वक्ता श्रोता च दुर्लभः ॥ (३७-२)

४ पापानुबन्धो वै यस्य कर्मणः कर्म को नु तत् ।
   कुर्वीत लोकाधिपतिः स्वयम्भूर्भगवानपि ॥ (५१-३२)

५ सर्वत्र खलु दृश्यन्ते साधवो धर्मचारिणः ।
   शूराः शरण्याः सौमित्रे तिर्यग्योनिगतेष्वपि ॥ (६८-२४)

Pls. see details here - http://sa.wikisource.org/wiki/रामायणम्/अरण्यकाण्डम्


can't use in sandboxरामायणस्य काण्डानि]] can't use in sandboxचित्रं योजनीयम्‎]] can't use in sandboxसारमञ्जूषा योजनीया‎]] can't use in sandboxसर्वे अपूर्णलेखाः]]




2)

लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अरण्यपर्व
Narada consoles Yudhistira
अरण्यपर्व

इदं महाभारतस्य तृतीयं पर्व अस्ति। अस्मिन् तु पाण्डवानां द्वादशवर्षीयं आरण्यजीवनं वर्णितम्। बाह्यसम्पर्कतन्तुः

   अरण्यपर्वणः आङ्ग्लानुवादः
   वनपर्वः
   Le Mahabharata
   आङ्ग्ल अनुवादः
   संस्कृते अरण्यपर्वः



3)

लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अरबी भाषा
AzerabadganDergi
अरबी भाषा

अरबी भाषा अस्ति।

   अल्जीरिया
   बहरैन
   चैड
   कोमोरोस
   जिबूती
   मिस्त्र
   ईराक
   इसराइल
   जार्डन
   कुवैत
   मोरक्को
   कतर
   सऊदी अरब
   सूडन
   सीरिया
   टुनिशिया
   संयुक्त अरब अमीरात
   यमन



4)

लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अररिया

अयं लेखः विक्यनुकूलीकरणम् अर्हति येनायं विकिपीडियायाः गुणवत्ता-मानदण्डेषु सुष्ठु भवेत्। कृपया अत्र प्रसङ्गानुकूलान् परिसन्धीन् योजयित्वा लेखस्य रूपविन्यासं विकास्य वा साहाय्यं क्रियताम्। (सप्तम्बर् २०११)

This article needs more links to other articles to help integrate it into the encyclopedia. Please help improve this article by adding links that are relevant to the context within the existing text. (सप्तम्बर् २०११) भारतस्य बिहारराज्ये स्थितं किञ्चन मण्डलम् अस्ति अररियामण्डलम् । अस्य मण्डलस्य केन्द्रम् अस्ति अररियानगरम्।


5)लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अररियामण्डलम्
araria district
अररियामण्डलम्

भारतस्य बिहारराज्ये स्थितं किञ्चन मण्डलम् अस्ति अररियामण्डलम् । अस्य मण्डलस्य केन्द्रम् अस्ति अररिया नगरम्।



6)लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अरवलमण्डलम्
अरवलमण्डलम

भारतस्य बिहारराज्ये स्थितं किञ्चन मण्डलम् अस्ति अरवलमण्डलम् । अस्य मण्डलस्य केन्द्रम् अस्ति अरवल नगरम्।




7)लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अरविन्द गौड़
अरविन्द गौड़ (१९६३-वाचनिकदोषः : < इत्येतत् अनपेक्षितं चिह्नम् ।-०२)२ १९६३
अरविन्द गौड़ (१९६३-वाचनिकदोषः : < इत्येतत् अनपेक्षितं चिह्नम् ।-०२)२ १९६३

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से अरविन्द गौड़, भारतीय रंगमंच निदेशक, सामाजिक और राजनीतिक प्रासंगिक रंगमंच में अपने काम के लिए जाने जाते है। अरविंद गौड़ के नाटक समकालीन हैं।[1] व्यापक सामाजिक राजनीतिक मुद्दों - सांप्रदायिकता, जातिवाद, सामंतवाद, घरेलू हिंसा, राज्य के अपराध, सत्ता की राजनीति, हिंसा, अन्याय, सामाजिक- भेदभाव और नस्लवाद उनके रंगमंच के प्रमुख विषय हैं। [2] गौड़ एक अभिनेता प्रशिक्षक (ट्रेनर), सामाजिक कार्यकर्ता और एक अच्छे कथा -वाचक (स्टोरी टेलर) हैं।

अरविन्द गौड़ ने भारत और विदेश के प्रमुख नाट्य महोत्सवो मै भाग लिया है। ऊन्होने नाटक कार्यशालाओं का विभिन्न कॉलेजों, संस्थानों, स्कूलों, विश्वविद्यालयों में आयोजन किया है। वह बच्चों के लिए भी नाटक (थिएटर) कार्यशालाओं का आयोजन करते है। अरविन्द ने विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक मुद्दों पर नुक्कड़ नाटकॉ के साथ- साथ दो दशकों में 60 से अधिक मंच नाटकों का निर्देशन किया है।[3]

अरविन्द गौड़ ने विदेशों में अमेरिका, रुस, फ्रांस, लंदन, ऑस्ट्रेलिया, एडिनबर्ग फेस्टिवल (ब्रिटेन), आर्मेनिया और संयुक्त अरब इमारात (यू ए ई) के साथ नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (NSD) महोत्सव (भारत रंग महोत्सव),संगीत नाटक अकादमी, साहित्य कला परिषद, दर्पणा अकादमी ऑफ आर्टस् (अहमदाबाद), नान्दिकार (कोलकाता), विवेचेना थिएटर महोत्सव (जबलपुर), ओल्ड वल्ड् थिएटर महोत्सव, टाइम्स महोत्सव, गजानन माधव 'मुक्तिबोध' नाट्य महोत्सव, वर्ल्ड सोशल फोरम और नेहरू सेंटर महोत्सव (मुम्बई) मे भी भाग लिया है।

पद्मश्री हबीब तनवीर के नया थिएटर के प्रमुख नाटको के लिए अरविन्द ने प्रकाश व्यवस्था भी डिजाइन की। आजकल अरविन्द गौड़ अस्मिता थियेटर ग्रुप के निदेशक के रूप मै कार्यरत है। कुछ प्रमुख सिनेमा अभिनेताओं - कंगना राणावत, दीपक डोबरियाल, शिल्पा शुक्ला(चक दे इंडिया (2007 फ़िल्म)), पीयूष मिश्र, लुशिन दुबे, बबल्रस सबरवाल, ऐशवरया निधि (सिडनी), तिलोत्त्त्त्मा शोम (मानसून वेडिंग), राशि बनि, रुथ शेअर्द् (ब्रिटिश अभिनेत्री),मनु ऋषि, सीमा आज़मी (चक दे इंडिया), सुसान बरार (फिल्म-समर 2007), चन्दन आनंद, जैमिनि कुमार, शक्ति आनंद आदि ने उसके साथ काम किया है।

अनुक्रम [छुपाएँ] 1 मुख्य निर्देशित नाटक 2 सम्मान 3 संदर्भ 4 बाहरी कड़ियां मुख्य निर्देशित नाटक[संपादित करें] गिरीश कर्नाड का तुगलक, हिन्दी मे अनुवाद- स्व. बी.वी. कारंत, सुरेखा सीकरी और के के नैयर भीष्म साहनी का हानूश स्वदेश दीपक का कोर्ट मार्शल (भारत भर मै ४५० बार से अधिक मन्चन)[4] धर्मवीर भारती का अंधा युग गिरीश कर्नाड रक्त् कल्याण (Taledanda), राम गोपाल बजाज द्वारा हिन्दी अनुवाद महेश दत्ताणी का फाइनल सोलुसन्स (अंतिम समाधान), शाहिद अनवर द्वारा अनुवाद (१५० शो)[5] विजय तेंडुलकर का घासिराम कोतवाल[6] मुंशी प्रेमचंद का मोटॅ राम का सत्याग्रह, रूपान्तर- ह्बीब तनवीर और सफ़दर हाशमी बेर्तोल्त ब्रेस्त् का कोकेशियान चाक सर्किल,कमलेश्वर द्वारा अनुवादित दूधनाथ सिंह का यम- गाथा गोविंद पुरुषोत्तम देशपांडे का अन्तिम दिवस, हिंदी में चन्द्र कांत पाटिल द्वारा अनुवादित दरिओ फो का ऑपरेशन तीन स्टार (अमिताभ श्रीवास्तव द्वारा अनुवाद, नाटक- एक अराजकतावादी की दुर्घटना में मृत्यु)[7] अल्बर्ट कामस का कलिगुला, शरद चंद्रा द्वारा अनुवाद समुअल बेकेट का वॅटग फोर गोदो (प्रतीक्षा Godot के लिए), अनुवाद -कृष्ण बलदेव वैद उदय प्रकाश की कहानी वॉरेन हेस्टिंग्स का सान्ड् पर नाटक हरिशंकर परसाई का माता दीन चान्द पर भीष्म साहनी के नाटक माधवी पर राशी बनी के साथ एकल नाटक[8] गान्धारी ऐशवरया निधि के साथ एकल नाटक मंजुला पद्मनाभन का हिद्देन फाय्रर राशी बनी के साथ एकल नाटक शरद जोशी का अंधों का हाथी और एक था गधा महेश दत्ताणी का तारा, अनुवाद- नीरज मलिक राजेश कुमार का मी गांधी बोल्तो (गांधी ने कहा था),नुक्कड़ नाटक व मंच नाटक नाग बोडस का अम्मा तुझे सलाम अशोक लाल का एक मामूली आदमी अनटाईटल एकल नाटक लुसिन दुबे के साथ भीष्म साहनी का कबीरा खड़ा बाजार मॅ हरीश नवल का पीली छत पर काला निशान,नुक्कड़ नाटक व मंच नाटक भारतेन्दु हरिश्चंद्र का अंधेर नगरी हर्ष मन्दर की किताब पर आधारित अनसुनी, पटकथा- मल्लिका साराभाई शेक्सपीयर के जूलियस सीज़र का मंचन, काव्यानुवाद अरविन्द कुमार मोहन राकेश का नाटक - लहरों के राजहंस राजेश कुमार का भीमराव अम्बेडकर और महात्मा गांधी सम्मान[संपादित करें] भारतीय नाट्य सन्घ द्वारा 'रंगमंच निदेशक सम्मान' विश्व रंगमंच दिवस, २००९ परंपरा के साथ प्रयोग में सर्वश्रेष्ठ नाटक के लिए विशेष जूरी सम्मान, अंतर्राष्ट्रीय सोलो थिएटर महोत्सव, आर्मीनिया कलर ओफ नेशन अवार्ड, राशि बनि के माधवी एकल नाटक (भीष्म साहनी) के लिये, इंटरनेशनल थिएटर महोत्सव,Nizhnevartovsk, रूस राधाकृष्ण सम्मान, दिल्ली की कला और संस्कृति के लिए योगदान के लिए उध्भव् शिखर सम्मान,2008 (आचार्य विजेन्द्र स्नातक की स्मृति में) स्वर- ध्ररोहर सम्मान, 2007 कर्मवीर पुरस्कार (Noble Laureates, iCONGO-Confederation of NGOs),2008 संदर्भ[संपादित करें] ऊपर जायें ↑ त्रिशा गुप्ता. "सुपर trouper". टाईम् आउट पत्रिका. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ नंदिनी नायर (2008-05-03). "इस सेतु चलना". द् हिंदू. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ अर्चना खरे. "दिल्ली मंच का अच्छा आदमी". मैल-टूडे. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ नाट्य समीक्षक. "-स्वदेश दीपक के कोर्ट मार्शल की समीक्षाए". गूगल साईट.काम. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ कविता नागपाल व अन्य नाट्य समीक्षक. "महेश दत्ताणी के फाइनल सोलुसन्स की समीक्षाए". गूगल साईट.काम. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ राणा ए सिद्दीकी. "घासीराम कोतवाल की गाथा". द ट्रिब्यून. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ नाट्य समीक्षक. "दरिओ फो का नाटक "ऑपरेशन तीन स्टार" की समीक्षाए". गूगल साईट.काम. अभिगमन तिथि: २००८. ऊपर जायें ↑ आनंद फाउंडेशन. "ब्रिटिश काउंसिल में नाटक". अभिगमन तिथि: २००८. बाहरी कड़ियां[संपादित करें] निदेशक अरविन्द गौड़ का साक्षात्कार, थियेटर पास्ता.काम (Theatre Pasta.com) निदेशक के बारे में, रोहित मलिक, दिल्ली एवेन्त्स निदेशक अरविन्द गौड़ की बाल कार्य शाला का विडियो यू-टुयुब पर। निदेशक अरविन्द गौड़ के नाटको के विडियो यू-टुयुब पर। [छुपाएँ] द वा ब भारतीय रंगकर्मी गिरीश कर्नाड • ह्बीब तनवीर • इब्राहीम अलकाजी • बी.वी. कारंत • अरविन्द गौड़ • नादिरा बब्बर • सत्यदेव दुबे • राम गोपाल बजाज • मल्लिका साराभाई • स्वदेश दीपक • सफ़दर हाशमी • महेश दत्ताणी • प्रसन्ना • गोविंद पुरुषोत्तम देशपांडे • विजय तेंडुलकर • नाग बोडस • प्रिया तेंडुलकर • रतन थियम • जे. एन. कौशल • राजेश कुमार • दिनेश ठाकुर श्रेणियाँ: भारतीय रंगकर्मीनुक्कड़ नाटक



8)

Arvind Sharma
जननम् Varanasi, India
वासस्थानम् Canada
कार्यक्षेत्राणि Religious Studies
संस्थाः McGill University
मातृसंस्थाः Allahabad University (B.A.), Syracuse University (M.A.), Harvard University (M.T., PhD)


फलकम्:Advaita Arvind Sharma is the Birks Professor of Comparative Religion at McGill University. Sharma's works focus on comparative religion, Hinduism, and the role of women in religion. Some of his more famous works include Our Religions and Women in World Religions. Feminism in World Religions was selected as a Choice Outstanding Academic Book (1999).[१]

Biography[सम्पादयतु]

Born in Varanasi, India, Arvind Sharma earned a B.A. in History, Economics, and Sanskrit from Allahabad University in 1958. In 1962, Sharma joined the Indian Administrative Service, serving in Gujarat until 1968. In 1971 he received an M.A. from Syracuse University and in 1974 earned a Masters in Theology from Harvard University. In 1978 he obtained his Ph.D. in Sanskrit from Harvard University. In 1976 he was appointed to the position of Lecturer in Asian Religions at the University of Queensland and in 1980 he took a similar position at the University of Sydney.[२]

In 1987, Sharma took the position of Associate Professor of Religious Studies at McGill University in Montreal. He is currently the Birks Professor of Comparative Religion there.[३] Sharma was the first Infinity Foundation Visiting professor of Indic Studies at Harvard.[४] He has held fellowships at the John F. Kennedy School of Government, the Center for the Study of World Religions, the Brookings Institution, the Center for the Study of Values in Public Life, and the Center for Business and Government. He was also elected a Fellow of the Royal Asiatic Society.[३]

Sharma currently writes two blogs entitled "Indological Provocations" and "The Comparative Study of Religion".

Bibliography[सम्पादयतु]

References[सम्पादयतु]

  1. Dr. Arvind Sharma, Emory University Hindu Students Council, retrieved 2015-04-10.
  2. Arvind Sharma, Faculty of Religious Studies, McGill University, retrieved 2015-04-10.
  3. ३.० ३.१ Asian Perspectives on the World's Religions after September 11 (Book flyer), ABC-Clio, retrieved 2015-04-10.
  4. Arvind Sharma’s life and work, World Wisdom, retrieved 2015-04-10.

External links[सम्पादयतु]


can't use in sandboxMcGill University faculty]] can't use in sandboxFellows of the Royal Asiatic Society]] can't use in sandboxLiving people]] can't use in sandboxHindu writers]] can't use in sandboxSyracuse University alumni]] can't use in sandboxHarvard Divinity School alumni]] can't use in sandboxWomen's rights in religious movements]] can't use in sandboxHindu studies scholars]] can't use in sandboxAdvaita Vedanta]]


10)लुअ दोषः : expandTemplate: template "Short description" does not exist.

अराधिन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से पूरु कुल के राजा।

प्राचीन वंशावली‎ [दिखाएँ] द वा ब भारतीय पौराणिक वंशावली श्रेणियाँ: पुराणपौरवकुलप्राचीन पौराणिक राजवंश